WOW - “Dear, 16 Year Old Me”




To,

Shwetabh Mathur 

लखनऊ वाला

हाँ तो 16 साल के श्वेताभ माथुर कान खोल के कुछ बातें सुन  लो, पढ़ 

लो. मैं बहुत साल आगे वाला तुम हूँ. कुछ सलाह है , कुछ शाबाशी भी 

ले लो, कुछ गालियाँ भी खा लो, कुछ जूते भी खा लेना. हाँ तो  अब 

शुरू  करते हैं.. रोते धोते किसी तरह 10th निकाल लिए ,  तुमने

कारगिल जीत लिया. अब जब 11th में आ चुके हो तो airforce ज्वाइन 

करने का तो सपना अधूरा ही रह गया क्यूंकि कॉमर्स लेकर बैठे हो.

PCM तो तुम्हारे बस की भी नहीं थी. मगर चिंता not, आगे चलकर 

airforce क्या पूरी armed forces पर लिखोगे तुम. अब दिल की 

सलाह भी ले लो, जिस खूबसूरत नई लड़की पर तुम्हारा दिल आ गया

 है वो crush है रे. इश्क तो तुमको पिछली क्लास में ही अपनी दोस्त 

से होगा आगे, चिंता मत करो...किस्मत ऐसी है कि आगे वो तुमसे 

सालों बाद ज़रूर मिलेगी, बस उसको किसी भी हाल में ज़िन्दगी से 

जाने मत देना..चाहे कुछ हो जाए. ज़िन्दगी दूसरा मौका नहीं देगी. 

इसी नई क्लास में एक और नई लड़की आई है , वो ही हिंदी क्लास 

वाली, वो तुम्हारी काफी अच्छी दोस्त बनने वाली है, थोड़ी नटखट 

शैतान है मगर दिल की awesome है यह अभी से जान लो.और बे, 

ज़रा लड़कियों से बोलचाल शुरू करो वरना आगे बहुत प्रॉब्लम होगी 

जब बोलती बंद हो जाया करेगी. यह स्कूल के ज़्यादातर  कमीने 

दिल्ली/NCR में ही बसेंगे, तो दोस्तों से दूर भी नहीं होगे. मज़े की बात, 

यह जितने अभी पढ़ाकू हैं , यह सब इश्क में फँसेंगे. अजीता मैम के

टच में रहना, सालों बाद बहुत ज़रुरत पड़ेगी. अकाउन्ट्स वाले सर से

तो खूब नोक झोंक होती होगी, जारी रखना.. and start becoming a

rebel क्यूंकि स्कूल में नियम कायदे कानून में फँस कर रह गए तो  

कभी बाहर नहीं आ पाओगे, confidence में बहुत टाइम लगेगा. Start
questioning things क्यूंकि स्कूल जो कुछ बताये वो सब सच हो यह

ज़रूरी नहीं..अभी पहले से ही बता रहा हूँ, फेयरवेल के दिन भी गाँधी

बेड़ा गर्क करने अपनी स्पीच सुनाने पहुँच जाएगा, संभल कर रहियो 

और यूनिफार्म में तो पक्का मत जइयो, हाँ कैमरा ज़रूर ले जाना. 

स्कूल से निकलते ही चुपचाप एक दो पहिया गाड़ी खरीद ले लेना, 

मेरी तरह साइकिल से ग्रेजुएशन करने की ज़रुरत नहीं वरना पैरों का 

बोलो राम हो जायेगा. TOPGEAR की आगे विंटेज वैल्यू बनेगी यह
पक्का है . यह जो तुम अभी टांग तुडवा कर बैठे हो न , सुधर जाओ 

वरना बहुत पिटोगे, आगे भी कम से कम 2 बार फ्रैक्चर होगा, 

 कोशिश करना न हो. 2012 वाला होने देना, वो देखने आएगी.  उससे 

पहले ही कोशिश करना कि ज़िन्दगी भर के लिए आ जाये वो. खैर 

दोस्त तो तुम ठीक ठाक हो, बस यह समझ लो कि आगे सब के

सब दोस्त नहीं रहेंगे, कुछ मतलबी हो जाने हैं, दोस्ती में 2 वे ट्रैफिक

शुरू कर दो. सब कुछ तुम्हें ही करने कि ज़रुरत नहीं. अभी से ही ध्रुव 

को थैंक यू बोल देना क्यूंकि आगे चलकर वो तुम्हें किताबें पढ़ने कि 

ऐसी आदत डालेगा कि सबसे ज्यादा खर्चा किताबों पे ही होना है, 

और रे, लड़ाकू जहाज़ वाले नोवेल्स भी आते हैं.

कुछ बड़ी बड़ी हस्तियो से मिलोगे जिनका हास्य जगत में बहुत नाम 

है. ये प्रीति जिंटा की दीवानगी थोड़ी कम कर दो, आगे चलकर किसी 

और के बहुत बड़े फैन, कूलर, एसी हो जाने हो. वैसे प्रीति की दो 

फिल्में तुम्हारी most favourite लिस्ट में रहेंगी. क्रिकेट छोड़ के एक

बार फार्मूला 1 और हॉकी देख लो, मज़ा आ जाएगा. By the by, 

क्रिकेट में कुछ चमत्कार होंगे. मिठ्ठू का ध्यान तो रख ही रहे होगे, 

खूब चिल्लाता होगा सुबह सुबह. इन्टरनेट पर कुछ गज़ब के लोग  

मिलेंगे आगे,कुछ अनजानों से गज़ब का रिश्ता बनेगा जो शायद  

अपनों से भी नहीं होगा. मास्टर्स में खूब ऐश करना. दिल्ली जाकर 

रहने का सपना कुछ सालों बाद पूरा हो ही जाएगा तो अभी टेंशन न

लो. वहाँ एक दम अल्टीमेट अनजान दोस्त बनेंगे. Out of the blue

जिसे कहते हैं. Let me tell you something. यह जो अभी उलझन सी

रहती है न जो कभी समझ नहीं पाते हो कभी, You are a patriot who

wears his heart on his sleeves, be proud of it, stand behind the

forces…forever. 

बस अभी इतनी चिठ्ठी बहुत है सालों तक तुम्हारा काम चलाने के लिए.  

जो कहा है वो करना ज़रूर, दोबारा मौका नहीं मिलेगा फिर. 

                                                                                    - 2016 वाला मैं 

‘This post is a part of Write Over the Weekend, an initiative for Indian Bloggers by BlogAdda.’
WOW - “Dear, 16 Year Old Me” WOW - “Dear, 16 Year Old Me” Reviewed by Shwetabh Mathur on 4:58:00 PM Rating: 5

No comments: