Memories

The places where moments reside

दिल की कलम से... दिल्ली की वो लड़कियाँ



आज फिर देखा.. दिल्ली की लड़कियों को.. खिलखिला रही थी कुछ, कुछ खीज रही थी, देर जो हो रही थी. मगर किसी को नहीं दिखा उन असहाय, न देख पाने वाले अंकल की तकलीफ जो एक हाथ में अपनी छड़ी इधर उधर चला कर मेट्रो गेट से बाहर निकलना चाहते थे. एक गेट काम नहीं कर रहा था. बेचारे उनको तो पता भी नहीं था की कार्ड लगा था की नहीं, गेट खुला की नहीं.. परेशानी में कस्टमर केयर के शीशे की तरफ चल दिए. जब देखा की मेरे आगे 3 मूर्तियाँ खड़ी हैं जिनसे कुछ नहीं होगा तो मुझे ही आगे बढ़ कर कहना पड़ा , " साइड हो जाइये अगर मदद नहीं कर सकती आप " . फिर बगल वाले गेट की तरफ जब मैं लाइन तोड़ कर बढ़ा और उन अंकल का हाथ पकड़ा तो मेरे साथ वाली एक आंटी बोलीं ," आप दोनों निकल जाइये, मैं बाद में Exit कर लूंगी. " 

आगे बढ़ कर अंकल बोले, "बेटा , मुझे सीढ़ियों से ले चलो, बस स्टॉप तक जाना है".. वो अपनी छड़ी से रास्ता टटोलते उतर रहे थे और मैं अहिस्ता अहिस्ता उनको बताता जा रहा था. बस स्टॉप पर उनको खड़ा करके मैं चला आया आगे. 

रास्ते में सोच रहा था - क्या लड़कियों को सिर्फ अपने हुस्न पर नाज़ होता है, दिल नाम की चीज़ नहीं होती उनके पास किसी की मदद के लिए ? मुझे तो नहीं लगता. इन 3 से लाख गुना अच्छी तो वो आंटी थी जिन्होंने हमें निकलने दिया और न जाने कितने अनजाने लोग जो हम लोगों को निकलते देख रहे होंगे. वाह री दिल्ली... अजीब रंग हैं तेरे.. कभी ऐसे लड़कों से मिलवाती है जो सिर्फ 3 नेत्रहीन लड़कों को मेट्रो पर बिठाने के लिए सुरक्षा घेरा बना कर चलते हैं.. कभी आम उन लोगों से जो 2 नेत्रहीन लड़कियों को ट्रेन से उतरने में मदद करता है, उन्हें हाथ पकड़ कर रास्ता दिखाते हैं चाहे खुद कितना भी लेट हो रहे हो.

आज यह सब देख कर पता नहीं दिल्ली की लड़कियों से नफरत हो गयी है या उनके व्यवहार से.. मगर यह सब सिर्फ अपने रंग पर इतराती हैं.. इनसे मदद की उम्मीद न के ही बराबर.. अभी शायद दिल से सुन्दर लड़की देखनी बाकी है. मुझे यह भी पता है की यह पढ़ने के बाद मेरी कुछ दोस्त `महिला मुक्ति मोर्चा ` की तरह मेरे खिलाफ खड़ी हो जाएँगी मगर मुझे परवाह नहीं...यह ही सच्चाई है जो आज देखी.. इंसानियत आज फिर शर्मसार हो गयी.. 

(July 2013 )
दिल की कलम से... दिल्ली की वो लड़कियाँ दिल की कलम से... दिल्ली की वो लड़कियाँ Reviewed by Shwetabh on 12:02:00 PM Rating: 5

1 comment:

  1. Nice blog right here! Additionally your web site quite a bit
    up very fast! What host are you the usage of?
    Can I am getting your affiliate hyperlink to your host? I wish my site loaded up
    as quickly as yours lol

    my web site ... Premium Garcinia Cambogia Review

    ReplyDelete