वो बरसात की रात ... #fridayfotofiction




“कर कैसे सकते थे मेरे साथ तुम? मैं होश में नहीं थी मगर तुम तो..या वासना के आगे वो भी रात की उस बारिश में सब भीग गया?” 

नेहा पार्क में सुबह लगभग चीखते हुए अक्षय से यह सवाल कर रही थी. दोनों की शादी में 5 महीने बाकी थे. एक पार्टी से लौटने में तेज़ बारिश में वो बहुत भीग गयी, उसने अक्षय को बुलाया और वो उसे अपने घर ले आया.

भीगे कपड़ों में नेहा को देख उसने वो किया जिसके लिए वो तैयार नहीं थी. ब्रांडी में नशे की गोली मिल गयी, वो सुबह फर्श पे फैले उसके कपड़ों ने बताया. जो लड़की प्यार से गालों को ही चूमने देती उसके साथ..

पार्क में अक्षय को बुलाया और दिल हल्का करने के बाद अंगूठी बेंच पे रख, धीरे धीरे कदम पीछे करने लगी. धुंधली आँखों से उसे बस अक्षय के बढ़ते हाथ की झलक ही दिखाई दी.


Linking up with Tina and Mayuri
वो बरसात की रात ... #fridayfotofiction वो बरसात की रात ... #fridayfotofiction Reviewed by Shwetabh Mathur on 9:26:00 PM Rating: 5

10 comments:

  1. A tragic end to what could have been a love story

    ReplyDelete
  2. So well worded & expressed. Wish their story would not end like this....
    Prasanna from Team Mocktailmommies

    ReplyDelete
  3. Dil dard ke mare ro pada hai Shwetabh ji!
    -Anagha from Team MocktailMommies

    ReplyDelete
  4. Ohh ho... wish there was a happy ending to it. Thanks for linking up with #FridayFotoFiction

    ReplyDelete
  5. तस्वीर कैसी भी हो उसे दर्द भरे एहसास में बदलने की कला आपको बखूबी आती है.

    ReplyDelete
  6. Not all stories have happy endings.

    ReplyDelete
  7. Pyar aur nasha is many times injurious to health

    ReplyDelete
  8. That is truly sad. Guess it just wasn't meant to be.
    Thank you for writing for #FridayFotoFiction

    ReplyDelete
  9. Wow you write this story with full of expressions and romance. Wish there was happy ending too. Seems Totally filmy scene.

    ReplyDelete
  10. Wow you write this story with full of expressions and romance. Wish there was happy ending too. Seems Totally filmy scene.

    ReplyDelete