9:48:00 AM
“वो घुटनों के बल बैठा था?” “नहीं, मैं बस नज़ारे में खोयी हुई थी और उसके उतनी सी देर में सब  कर..मेरा मतलब पीछे...
वो नज़ारा ... #fridayfotofiction वो नज़ारा ... #fridayfotofiction Reviewed by Shwetabh Mathur on 9:48:00 AM Rating: 5
9:26:00 PM
“कर कैसे सकते थे मेरे साथ तुम? मैं होश में नहीं थी मगर तुम तो..या वासना के आगे वो भी रात की उस बारिश में सब भीग गया?”  नेहा प...
वो बरसात की रात ... #fridayfotofiction वो बरसात की रात ... #fridayfotofiction Reviewed by Shwetabh Mathur on 9:26:00 PM Rating: 5
9:38:00 AM
गरिमा से शादी हुए उसे महज 4 महीने ही हुए थे , आज भी वो नताशा को भूल नहीं पाया था. वो दर्द आज भी था. गरिमा हमेशा पियानो पे एक ध...
वो लाल डायरी ... #fridayfotofiction वो लाल डायरी ... #fridayfotofiction Reviewed by Shwetabh Mathur on 9:38:00 AM Rating: 5